Friday, 17 June 2016

तेलीय त्वचा और चेहरे (Oily Skin) के लिए घरेलू उपाय

तेलीय त्वचा चमकदार, मोटी और हल्के रंग की होती हैं | स्किन की बाहरी परत से अतिरिक्त तेल का रिसना ब्लैकहेड (blackhead), वाइटहेड (whitehead), पिम्पल (pimple) और स्किन की जलन को बढावा देता हैं | ऑयली स्किन के छिद्र (pores) बड़े होते हैं और स्किन मोटी होती है | ऑयली स्किन को मेन्टेन रखना थोड़ा मुश्किल होता है |

ऑयली स्किन और ऑयली फेस के मुख्य कारण हैं :-

1. जेनेटिक्स ( genetics) : तेलीय त्वचा के लिए मुख्य कारण जेनेटिक्स हैं | आपके परिवार में तेलीय त्वचा पायी जाती हैं तो परिवार के सभी सदस्य की तेलीय त्वचा होने की सम्भावना से इनकार नहीं किया जा सकता हैं |

2. स्किन केयर प्रोडक्ट्स (Skin Care Products) का अधिक इस्तेमाल करना

3. चिकनी साफ़ त्वचा पर क्लेंसिंग या स्क्रबिंग के लिए स्किन केयर प्रोडक्ट्स का अधिक इस्तेमाल करने से भी आपकी त्वचा, तेलीय त्वचा में बदल जाती है |

4. मौसम का बदलना: गर्मी के मौसम में गर्मी ( heat ) और ह्यूमिडिटी ( humidity ) के कारण त्वचा पर आयल का बनना बढ़ जाता हैं | सर्दी के दिनों में त्वचा डीहाइड्रेट होने के कारण रुखी (dry) हो जाती है | इस कमी को पूरा करने के लिए त्वचा से आयल का रिसाव होता हैं |

5. दवाएं (Medication) : हॉर्मोन के बनने पर कण्ट्रोल करने और हॉर्मोन के परिवर्तन पर दवाएं लेने से भी  आयल प्रोडक्शन बढ़ता हैं |

6. हॉर्मोन का बदलना : महिलाओं में प्रेगनेंसी ( pregnancy ) के समय, मासिक के बंद ( Menopause ) होने से पहले या बाद में हॉर्मोन चेंजेस की वजह से भी ऑयल ग्लैंड ( Oil gland ) से अधिल आयल का बनना शुरू हो जाता हैं |

7. तनाव ( Stress ) : तनाव के समय आपके शरीर में एण्ड्रोजन हॉर्मोन ( Androgen hormone ) बनने लगते हैं, जो अधिक आयल बनाने लगते हैं |

8. सन टैनिंग ( Sun Tanning ) : सन टैनिंग अस्थायी रूप से स्किन को ड्राई कर देती हैं | वास्तव में सन टैनिंग के कारण आयल ग्लैंड ( oil gland ), आयल बनाकर स्किन की उपरी सतह की रक्षा करता है |

ऑयली स्किन के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार

1. आपकी ऑयली स्किन के धब्बे, टोन और स्किन को टाइट करने के लिए अंडे की सफेदी बहुत कारगर होती हैं | एक कटोरे में अंडे की सफेदी ( Egg Whites ) निकाल लें | फिर अंडे की सफेदी को चेहरे पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें | कुछ देर बाद पानी से चेहरे को धोलें |

एक कटोरे में अंडे की सफेदी ( Egg Whites )  निकाल लें और नीबू का रस ( Lemon juice ) मिलाकर फेंट लें | इस मिश्रण को चेहरे पर लगाकर 15 मिनट तक छोड़ दें | फिर पानी से चेहरे को धोलें |

2. चेहरे के अतिरिक्त आयल को सोखने में दही ( Yogurt ) मदद करती हैं | अपने चेहरे पर दही को लगाकर 15 मिनट तक छोड़ दें | फिर ठन्डे पानी से चेहरे को धोलें |

3. एक कटोरे में ओटमील ( oatmeal ), शहद ( Honey ) और दही ( Yogurt )  मिला कर फेंट लें | इस मिश्रण को चेहरे पर लगाकर 15 मिनट तक छोड़ दें | फिर चेहरे को गर्म पानी से धोलें |

4. टमाटर ( tomato ) में कुलिंग ( cooling ) और क्लीयरिंग ( clearing ) गुण होते हैं जो ऑयली स्किन के लिए सबसे अच्छे हैं | टमाटर में आयल अब्सोर्बिंग एसिड ( oil absorbing acid ) होते हैं जो स्किन के अतिरिक्त आयल को सोखने में मदद करते हैं | एक टमाटर को काट कर स्लाइस ( slice ) बना लें | टमाटर की स्लाइस को स्किन पर तब तक रगड़े जब तक स्किन जूस को सोख न ले | इसके बाद 15 मिनट तक छोड़ दें | फिर ठन्डे पानी से चेहरे को धोलें |

5. कुलिंग (cooling), कसैला और सुखदायक गुण खीरे ( cucumber ) में होते हैं जो ऑयली स्किन के लिए फायदेमंद हैं | ऑयली स्किन के लिए अधिक मात्रा में विटामिन ( vitamin ), मिनरल ( mineral ), मैग्नीशियम (magnesium ) और पोटैशियम ( potassium ) अच्छा होता है | रात को सोने से पहले खीरे की स्लाइस से स्किन को रगड़ कर छोड़ दें | सुबह स्किन को गर्म पानी से धोलें | एक कटोरे में खीरे का रस ( cucumber juice ) और नीबू का रस ( lemon juice ) मिलाकर फेंट लें | इस मिश्रण को अपने चेहरे और हाथों में लगा कर छोड़ दें | सनबर्न ( sunburn ) को कम करने में इस तरीके का इस्तेमाल कर सकते हैं |

ऑयली स्किन की देखभाल के लिए सामान्य टिप्स

*ऑयली स्किन को साबुन ( soap ) से रोज़ धो कर नियंत्रण ( control ) में रखा जा सकता हैं | बाहर से घर में आने के बाद अपने चेहरे और गर्दन को धोया करें |
*उसके बाद चेहरे और गर्दन पर टोनर ( tonner ) लगाएं जो धूल और स्किन के छिद्र को बंद कर देता हैं |
*ऑयली स्किन वाले लोगों को तरलीय मोइस्च्राइज़र का इस्तेमाल करने चाहिए जो शरीर की नमी को बनाए रखता हैं |
*धूप में निकलनें से पहले सनस्क्रीन लोशन ( Sunscreen Lotion ) लगाना चाहिए क्यूंकि स्किन को सूरज की किरणों से काफी नुकसान होता हैं और आयल ग्लैंड से आयल का बहाव अधिक होने लगता हैं |
*तला हुआ खाना ( Fried food ) या फैटी खाना ( Fatty Food ) खाने से बचें ( avoid ) या कम मात्रा ( limited ) में खाए क्यूंकि ऐसा खाना खाने से स्किन से अधिक मात्रा में आयल का बहाव शुरू हो जाता है | अधिक कैलोरी या मीठा खाना खाने से अधिक आयल का निकलना और पिम्पल के बनने की सम्भावना बढ़ जाती है |
*ताज़े फल, सब्जी और हल्का पका हुआ खाना खाने से स्किन हेल्थी रहती है |
*कैफीनेटेड ड्रिंक ( Caffeinated Drink ) को सिमित मात्रा में पिएं क्यूंकि ये सिस्टम को गर्म कर देती है और अधिक आयल बनाने का कारण बनती है |
*कार्बोनेटेड ड्रिंक ( Carbonated Drink ) में चीनी ( sugar ) की मात्रा अधिक होती है | इसका सेवन करने से ऑयली स्किन पर पिम्पल के बनने की सम्भावना बढ़ जाती है |
*ये एक कल्पना मात्र है कि ऑयली स्किन को हाइड्रेट करने की ज़रुरत नहीं हैं | इस बात को समझना होगा कि आयल मोइस्चर नहीं है | अधिक मात्रा में पानी का सेवन करें ताकि आपकी स्किन की नमी बनी रहे |

ऑयली स्किन के लिए प्राकृतिक ब्यूटी टिप्स

नीबू का रस ( Lemon Juice )

एक कटोरे में नीबू का रस ( Lemon juice ) और ठंडा पानी मिलाकर कर फेंट लें | इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाकर 10 से 15 मिनट तक छोड़ दें | फिर अपने चेहरे को फेस वाश ( face wash ) से धोलें |

नीबू का रस ( Lemon Juice ), शहद ( Honey ) और दूध ( Milk )

एक कटोरे में एक चम्मच नीबू का रस ( Lemon juice ) , आधा चम्मच शहद ( Honey ) और एक चम्मच दूध ( Milk ) लेकर पेस्ट बना लें | इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगा कर 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें | फिर ठन्डे पानी से धोलें | ये उपचार एक प्राकृतिक ब्लीचिंग ( Bleaching ) की तरह काम करता है और स्किन को अधिक आयल बनाने से रोकता भी हैं |

बादाम ( Almond ) और शहद ( Honey ) का स्क्रब ( Scrub )

कुछ बादाम ( Almond ) पीस कर पेस्ट बना लें और उसमें शहद ( Honey ) मिला कर फेंट लें | अपने स्किन पर इस पेस्ट की हल्की मालिश करें | ध्यान रखें कि अपनी स्किन की मालिश करनी हैं, स्क्रब नहीं करना हैं | मालिश करने के 10 से 15 मिनट बाद अपने चेहरे को ठन्डे पानी से धोलें |

ओटमील ( oatmeal ) और एलो वेरा ( Aloe Vera ) स्क्रब

एक कटोरे में ओटमील ( oatmeal ) और एलो वेरा ( Aloe Vera ) लेकर पेस्ट बना लें | इस पेस्ट को अपनी स्किन पर हल्के हाथ से रगड़ कर 10 से 15 मिनट तक छोड़ दें | फिर पानी से अपनी स्किन को धोलें |

आप की स्किन पर मुंहासे ( Acne ) हैं तो ज्यादा स्क्रब करने की ज़रुरत नहीं है क्यूंकि स्किन में जलन होने लगेगी |

गीले मेकअप न करें क्यूंकि ये आपकी स्किन के छिद्रों को बंद कर देता है |

एलो वेरा ( Aloe Vera )

अपने चेहरे को अच्छी तरह से धोलें | फिर एलो वेरा जेल ( Aloe Vera Gel ) अपने चेहरे पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें | फिर पानी से अपने चेहरे को धोलें | दिन में दो से तीन बार एलो वेरा जेल ( Aloe Vera Gel )  अपने चेहरे पर लगाएं |

सेब का फेसिअल ( Apple Facial )

ऑयली स्किन को ग्लोविंग स्किन बनाने के लिए सेब के फेसिअल ( Apple Facial ) का इस्तेमाल करते हैं | एक सेब लेकर उसका छिल्का उतार लें | फिर सेब को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें | अपने चेहरे पर सेब के इन टुकड़ों को रगड़ कर एक घंटे के लिए छोड़ दें | फिर ठन्डे पानी से चेहरे को धोलें |

मुल्तानी मिट्टी ( Multani mitti )

एक बर्तन में मुल्तानी मिट्टी और पानी मिलाकर पेस्ट बना लें | इस पेस्ट को ऑयली स्किन पर लगाकर पूरी तरह सूखने दें | पूरी तरह सूखने के बाद पानी से धोलें | (Buy it Online)

मुल्तानी मिट्टी ( Multani mitti ), नीबू का रस ( Lemon Juice ) या संतरे का रस (Orange Juice)

एक बर्तन में एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी ( multani mitti ) और आधा चम्मच नीबू का रस ( lemon juice ) या संतरे का रस ( orange juice ) मिलाकर पेस्ट बना लें | इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर सूखने दें | पेस्ट के सूखने के 15 मिनट बाद अपने चेहरे को धोलें |

No comments:

Post a Comment