Friday, 17 June 2016

अगर आप बालों में कलर करते हैं तो जान लें ये जरूरी बातें


बालों में कलर करना आजकल आम बात हो गई है कुछ लोग फैशन के लिए तो कुछ लोग सफेद हो चुके बालों को छुपाने के लिए तरह-तरह के रंगों का प्रयोग करते हैं। एक आंकड़े के मुताबिक करीब लगभग 75 फीसदी महिलाएं बालों को कलर करती हैं। कलर कराने से कुछ हानियां भी हैं। कलर करने में जरा सी लापरवाही आपके लिए नुकसानदायक पहुंचाती है। इस समय बाजार में कई तरह के कलर मौजूद हैं। नेचुरल कलर, टेम्‍परेरी कलर और परमानेंट हेयर कलर। हम आपको बता रहे हैं कि बालों में कलर करने से आपको क्‍या नुकसान हो सकता है और इससे आप कैसे बच सकते हैं।
1- कुछ लोग बालों में डाई लगाते हैं। इससे कुछ लोगों को एलर्जिक रिएक्शन होता है। ये रिएक्शन मामूली असर वाला या फिर गंभीर भी हो सकता है। बालों में कलर करने के बाद यदि आपको सिर की त्वचा में मामूली जलन या सनसनाहट महसूस हो तो यह एलर्जी की शुरूआत हो सकती है। यदि कलर करने के बाद आपके माथे, कान, गर्दन के पीछे सूजन और आंखों में जलन की शिकायत होती है तो यह एलर्जी का गंभीर मामला हो सकता है।
बचने के तरीकेकुछ सावधानी बरत कर बालों में हेयर डाई से हो सकने वाले नुकसान से बच सकते हैं। ऐसा करने से आपके सिर के बाल ज्‍यादा समय तक ठीक रहेंगे। जब भी आप किसी नए ब्रांड को इस्‍तेमाल करें तो पहले उसके बारे में अच्‍छे से जानकारी कर लें। ऐसा देखा गया है कि कई बार कुछ लोग कलर बदलने से एलर्जी का शिकार हुए हैं। कोशिश करें कि आप लगातार एक ही अच्‍छा ब्रांड उपयोग करें।
टेस्ट करके देख लेंएलर्जी से बचने के लिए पैच टेस्ट करके देख लें। पैच टेस्ट, किसी प्रोडक्ट के प्रति आपकी त्वचा की संवेदनशीलता के बारे में बतात है। इसके साथ ही आपको एलर्जिक रिएक्शन से भी बचाता है। इसलिए हेयर डाई का मिश्रण बनाते समय लेबल पर दिए गए निर्देशों को पढ़ लें। कान के पीछे का हिस्सा सबसे ज्‍यादा संवेदनशील होता है। यह किसी भी प्रकार के एलर्जिक रिएक्‍शन के लक्षणों को तुरंत दिखाता है। आप रुई के टुकड़े को हेयर डाई के मिश्रण में डुबाकर कान के पीछे लगा लें। इसे 24 घंटे तक लगाकर रखने से आप एलर्जी के प्रकोप से बचे रहेंगे। यदि आप हेयर डाई को निर्धारित समय से ज्‍यादा लगाकर रखते हैं तो यह आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकती है।
2- हेयर कलरिंगहेयर कलर कराना फैशन बनता जा रहा है। इसे कराने वाले अधिकतर लोग कलरिंग के फायदे और नुकसान के बारे में नहीं सोचते। कलर कराने वालों का पहला मकसद भूरे बालों को छिपाना और लुक में बदलाव करना है। महज हेयरकट ही नहीं बल्कि बालों में बने स्‍ट्रीक्‍स भी आपकी खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं।
यदि आपको एलर्जिक रिएक्शन होने का खतरा लगता है तो किसी भी परेशानी से बचने के लिए पानी की धार से अपने बालों को धो लें। इससे हेयर कलर आपके बालों से साफ हो जाएगा। यदि फिर भी आपके बालों में कोई केमिकल रह गया है तो आप क्‍लेरिफाइंग शैम्‍पू से इसे हटा सकती हैं।

No comments:

Post a Comment